मनाइए विश्व हिन्दी दिवस, कुछ बेहतरीन पुस्तकों के साथ। इसमें अपना 'गोल' पाने का जुनून है, तो अंतरिक्ष में अपनी आवाज़ का परचम लहराने वाली धुन की कहानी भी, भाषा की विविधता का जश्न मनाते ऊल-जुलूल गीत हैं, तो नदी के खूबसूरत संसार में डुबकी लगाने का रोमांच भी! तो चलिए किताबों के इस खूबसूरत संसार में और अनुभव कीजिए पठन का अद्भुत रोमांच!

प्रथम बुक्स बाल साहित्य में हमेशा कुछ नया करने की कोशिश करता है। हमारा लक्ष्य ही है ‘हर बच्चे के हाथ में एक किताब’। हर बच्चे के हाथ में किताब पहुँचाने का आशय है कि किताबें उनकी भाषा में हों। हम सभी जानते हैं कि हिन्दी भारत सें सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। अतः हर बच्चे के हाथ में किताब पहुँचाने के लिए हिन्दी में अच्छी, मनोरंजक, ज्ञानवर्धक और गुणवत्तापूर्ण किताबों का होना आवश्यक है। प्रथम बुक्स की किताबें इस दृष्टि से उल्लेखनीय हैं। इनमें हालिया की कुछ बेहतरीन पुस्तके हैं ‘गोल’, ‘एक धुन अंतरिक्ष में’, ‘चलतुन्दि-चलतुन्दि : हिन्दी-तेलुगु ऊल-जलूल गीत’, ‘तंगम चट्टम : हिन्दी-मलयालम ऊल-जलूल गीत’ और ‘नदी’।  

1. गोल : गोल महज़ फुटबॉल का गोल नहीं, लड़कियों की सफलता का परचम है। परचम दायरों से बाहर जाने का। परचम रूढ़ियों को तोड़ने का, परचम कुछ नया करने का। लड़कियाँ किसी भी समुदाय या किसी भी वर्ग की क्यों ना हों, वह हर जगह परचम लहरा रही हैं। इसी का सबूत है मुंब्रा का परचम फाउंडेशन। हमारी कहानी की हीना अपनी दोस्त इनायत और सबा दीदी से प्रभावित हो फुटबॉल खेलने की इच्छा जाहिर करती है। अम्मी-अब्बू के थोड़े ना-नुकुर के बाद आख़िरकार वह उन्हें मना ही लेती है। मन में बहुत से डर हैं, पर आगे बढ़ने का जज़्बा भी तो है! आख़िरकार हमारी हीना अपना ‘गोल’ हासिल कर ही लेती है। नेहा सिंह और सबा खान द्वारा लिखित और अलाफिया हसन और प्य्रो ड्रास द्वारा चित्रित कहानी यहाँ पढ़ें

 

2. एक धुन अंतरिक्ष में : लड़कियाँ बहुत पुराने समय से अपनी कामयबी का परचम लहरा रही हैं। ये बात और है कि हम में से कई उनकी सफलताओं से अनभिज्ञ हैं। हम में से कितने लोग हैं जो केसरबाई केरकर के बारे में जानते हैं? बहुत कम। केसरबाई की आवाज़ हिन्दुस्तान की इकलौती आवाज़ है जिसे ‘वॉयजर’ में शामिल किया गया, जो अंतरिक्ष में गुंजायमान है। केसरबाई केरकर ने यह परचम यूँ ही नहीं हासिल किया। उन्होंने अपने युग की कई रूढ़ियों को तोड़ा था। वह शास्त्रीय संगीत के सबसे मुश्किल रूप, ख़याल गायिका बनीं। उन्होंने महफिलों, कार्यक्रमों में पालथी मारकर गाया। शास्त्रीय गायन के क्षेत्र में ऐसा करने वाली वह पहली महिला थीं। नेहा सिंह द्वारा लिखित और अनूदित, और शुभश्री माथुर द्वारा चित्रित यह कहानी यहाँ पढ़ें

 

 

3. चलतुन्दि-चलतुन्दि: हिन्दी-तेलुगु ऊल-जलूल गीत : यह एक मज़ेदार बाल गीत है, जिसे तेलुगु शब्दों की मदद से रचा गया है। बच्चे जब इसे बोलकर पढ़ते हैं तो उन्हें मज़ा आता है! इससे वह अन्य भाषाओं के शब्दों और ध्वनियों के बारे में जान पाते हैं और उनका आनन्द लेते हैं। यह ऊल-जलूल गीत हमें अपने देश की भाषाओं के वैविध्य और उनकी खूबसूरती से भी परिचित कराता है। इसके लेखक और अनुवादक चिन्मय धारूरकर एक भाषाविद हैं और 14 से अधिक भाषाओं के जानकार हैं। वह भाषा की बारीकियों से अच्छी तरह परिचित हैं। इसलिए उनके द्वारा रचित यह ऊल-जलूल गीत उल्लेखनीय है।  इस पुस्तक के चित्र बनाएँ हैं पल्लवी जैन ने, यहाँ पढ़ें

 

4तंगम चट्टम : हिन्दी-मलयालम ऊल-जलूल गीत : चिन्मय धारूरकर द्वारा लिखित और अनूदित यह एक और मज़ेदार ऊल-जलूल गीत है। इसे मलयालम शब्दों की मदद से रचा गया है। इसे भी जब बच्चे बोलकर पढ़ते हैं तो अधिक लुत्फ उठाते हैं। यह गीत ना सिर्फ़ मलयालम और हिन्दी भाषा की मिलीजुली खूबसूरती का परिचायक है, बल्कि इन भाषा समुदायों के सांस्कृतिक वैविध्य और खूबसूरती का भी परिचायक है। पल्लवी जैन द्वारा चित्रित इस पुस्तक को यहाँ पढ़ें

 

5. नदी : यह कविता नदी की खूबसूरती और इसके महत्त्व को रेखांकित करती है। कवि लिखता है, नदी क्या है? इंद्रधनुष के झूले पर सवार वर्षा की बूँदों की बहार, किसी घड़ियाल की दारोगाई गश्त वाली किट-किट की पुकार और जादुई-सा रुपहला संसार! इस कविता में हम नदी के झिलमिल संसार में डुबकी लगाते हैं। कविता के लेखक हैं मशहूर बाल लेखक, सम्पादक और अनुवादक सुशील शुक्ल। रोशनी व्याम द्वारा चित्रित यह कविता यहाँ पढ़ें

प्रथम बुक्स की ये किताबें ना सिर्फ़ नारी शक्ति के परचम की परिचायक हैं, बल्कि हिन्दी सहित अन्य भारतीय भाषाओं के बाल साहित्य में विषय की विवधता की भी परिचायक हैं। इनमें कहानियाँ हैं, काव्य हैं, मिली-जुली भाषाओं का वृंद है, नदी की कलकल और रुपहला संसार है।    


संध्या

हिन्दी सम्पादक

प्रथम बुक्स   

Be the first to comment.

StoryWeaver is celebrating this festive season by presenting to you our year end wrap. Come, let us soak in this holiday season by reading our most loved stories from 2022. This festive season, let us remember the joys of the year gone by and greet the new year with hope, and renewed enthusiasm. Here is a list of fun and vibrant books for educators and teachers to introduce into the classrooms. 

1. My Little Garden: A little boy and his dad find a plot full of litter. Can they turn it into something wonderful? Go on a journey of transformation and sustainability with the characters from this book written by Bridget Krone, illustrated by Megan Lotter, and published by Book Dash here. 

 

2. The Blob Who Wanted to Be More: Blob always wanted to be more than just a blob, so she set out on an adventure. Along the way, she made new friends, learned new things and came closer to her true self. Read this early reader book and go on an endless adventure of understanding your own identity and the limitless possibilities the world offers you, with the blob, written and illustrated by Rucha Dhayarkar, and published by Singapore Book Council here.

 

3. Once upon a Coin: Banko discovers the beauty of coins when he sees his grandmother’s collection. Join Banko to find out the images that can be spotted on Indian coins. Read this fun story written by Mala Kumar, illustrated by Tanvi Bhat, and published by Pratham Books here.

 

4. The Plant Whisperer: Young Jaishree loves nothing more than plants. She wants to understand them, which is why she decides to spend her life studying plants. Read this biography of ecologist Dr. H Jaishree Subrahmaniam, a story of passion and gumption written by Sayantan Dutta, illustrated by Bhavya Kumar, and published by Pratham Books here.

 

5. Tree’s Company: a play: A wonderful play that includes three stories about three special trees about the importance of plants in our lives. Read this play and discover more about the magic of trees, their stories, and their innate importance in our lives written by Jerry Pinto, illustrated by Kalyani Ganapathy, and published by Pratham Books here.

 


As we look back, this past year has been about recovering from the impact of the Covid-19 pandemic with the realisation that we must continue our efforts to make the joy of reading fun, free, and accessible to all. Help us continue our journey of spreading the cheer of reading. If you like our work, consider supporting us by donating to StoryWeaver. No amount is too small, and we appreciate every single contribution.

To make a contribution, please click: http://bit.ly/3PHTht5

 

 

 

 

 

Be the first to comment.

StoryWeaver is celebrating this festive season by presenting to you our  year end wrap. Come, let us soak in this holiday season by reading our most loved stories from 2022. This festive season, let us remember the joys of the year gone by and greet the new year with hope, and renewed enthusiasm. Here is a list of fun and sparkling stories to introduce to the child. 

1. A Bunch of Flowers: What is happening to Peri’s mother? His mother is always sleeping, her room is always dark like a thick forest of tall trees. In this wordless book for  emergent readers, Peri thinks of ways to bring the outdoors and sunshine back into their home and into his mother’s eyes. Immerse yourself in this lovely picture book on hope, support, and understanding written by Liwliwa Malabed, illustrated by Saumya Oberoi, and published by Singapore Book Council here.

 

2. How Many?: Crawling snails, fluttering butterflies, pigs in the mud. This book has so many animals, and more keep joining in. Can you count them all? Count your way through complex maths concepts with this richly illustrated book written by Sudeshna Shome Ghosh, illustrated by Sayan Mukherjee, and published by Pratham Books here.

 

3. Brave Bora: Going to the doctor can be scary! Can Bora overcome his fears, with a little help from Baba and Jojo? Explore your own courage through this beautiful story on love and support written by Edna Gicovi, illustrated by Ellen Heydenrych, and published by Book Dash here.

 

4. Haru: Meet Haru, who loves to eat, run and play. Even though there are nights when it’s hard to find a warm place to sleep, or days when there isn’t enough food to eat, Haru is always certain that tomorrow will be better. After all, as long as there is love and joy, it’s not a bad life! Discover the joy in the little things in life through this book written and illustrated by Manjari Chakravarti, and published by Pratham Books here.

 

5. At Home: Ammini misses school, and her brother Unni misses his aunt. Both of them miss playing in the park. But everyone has to stay indoors. Maybe they can go out for a walk today? Ammini hopes so. A day in the life of two children in a time of lockdowns and social distancing. Join Ammini on her journey as she tries her best to keep hopeful and carry on during tough times written by Shweta Ganesh Kumar, illustrated by Annand Menon, and published by Pratham Books here.

 


As we look back, this past year has been about recovering from the impact of the Covid-19 pandemic with the realisation that we must continue our efforts to make the joy of reading fun, free, and accessible to all. Help us continue our journey of spreading the cheer of reading. If you like our work, consider donating to StoryWeaver. No amount is too small, and we appreciate every single contribution.

To make your contribution, click on: http://bit.ly/3PHTht5

Be the first to comment.